कानपुर: रोनिल हत्याकांड को नहीं सुलझा पाई कानपुर पुलिस, अब सीबीआई जांच की सिफारिश, 5 आईपीएस को भी नहीं मिले सबूत

1
कानपुर: यूपी के कानपुर में इंटर के छात्र की हत्या का यह पहला मामला बन गया है। कानपुर कमिश्नरेट पुलिस रोनिल हत्याकांड के 25 दिन बाद भी खुलासा नहीं कर सकी है। रोनिल का परिवार भी सीबीआई जांच की मांग कर रहा था। कानपुर कमिश्नरेट पुलिस ने रोनिल हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की है। रोनिल हाई स्कूल गया था, और अवकाश के बाद से लापता हो गया था। इसके बाद अगले दिन उसका शव चंदारी रेलवे स्टेशन के पास झाड़ियों में मिला था। रोनिल अपने घर का इकलौता बेटा था। चकेरी थाना क्षेत्र स्थित श्यामनगर निवासी संजय सरकार सराफा विक्रेता की दुकान का मैनेजर है। परिवार में पत्नी और इकलौता बेटा रोनिल सरकार था। रोनिल श्यामनगर के डॉ. वीरेंद्र स्वरूप कॉलेज में 12वीं कक्षा का छात्र था। रोनिल सोमवार (31 अक्टूबर) को ई-रिक्शा से हाई स्कूल गया था। दोपहर की छुट्टी के बाद जब वह घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने स्कूल में फोन कर जानकारी जुटाई। स्कूल से पता चला कि रोनिल ने ट्रिप के बाद स्कूल छोड़ दिया है।

कानपुर कमिश्नरेट पुलिस रोनिल हत्याकांड को सुलझाने में नाकाम रही है। कानपुर के पुलिस आयुक्त बीपी जोगदंड ने सरकार से मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की है, वहीं पुलिस अधिकारियों ने हत्याकांड का जल्द से जल्द खुलासा करने का दावा किया है. मामले की जांच में 5 आईपीएस लगे थे, लेकिन पुलिस 25 दिन में भी हत्यारों का पता नहीं लगा पाई।

संवाद आगे बढ़ेगा
पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड के मुताबिक, रोनिल सरकार की हत्या के मामले की जांच चल रही है। इस मामले में कई वरिष्ठ अधिकारियों और टीमों को तैनात किया गया है। रोनिल के स्कूल, उसके साथ पढ़ने वाले छात्रों, परिजनों और घटना स्थल पर मिले साक्ष्यों का सत्यापन किया गया है। परिवार और हमारा मानना ​​है कि घटना का ठीक से खुलासा होना चाहिए। परिवार ने सीबीआई जांच की मांग की थी। इसलिए हम सीबीआई जांच की मांग करते हैं, जब तक सीबीआई जांच पूरी नहीं हो जाती, तब तक विचार-विमर्श जारी रहेगा।’
रिपोर्ट – सुमित शर्मा

Download Lokjanta App

Leave A Reply

Your email address will not be published.